राम रचा सोही होइ

ये भी करलु वो भी करलु घर अपना पैसे से भरलू,
ये भी पा लू वो भी पा लू जीवन के हर गीत को गए लू,
ईशाओ का अंत न कोई राम रचा सोही होइ

ऐसा होये वैसा होये जाने कैसा कैसा होये
मिले सभी कुछ कुछ न खोये भाग जगा हो कभी न सोये,
ईशाऔ  का अंत न कोई,राम रचा सोही होइ

अतुलित बल हो अगणित धन हो,
खुशियों से परिपूरित मन हो,
मेहका भगिया का कण कण हो जीवन इक सूंदर उपवन हो,
ईशाओ  का अंत न कोई,
राम रचा सोही होइ
श्रेणी
download bhajan lyrics (197 downloads)