चुनरिया मात भवानी की मैने जयपुर से मगवाई

चुनरिया मात भवानी की,
मैने रातो रात सजाई
मैने रातो रात सजाई
मैने प्रेम से उसे बनाई

लाल रंग की प्यारी प्यारी
गोटा पट्टी लगी किनारी
कुंदन की चमक निराली

चुनरिया मात भवानी की,
मैने रातो रात सजाई
मैने रातो रात सजाई
मैने प्रेम से उसे बनाई

रेशम के बूटे बड़े बड़े
उनपे सितारे मैने जड़े
घुघरू की लगा दी लडी

चुनरिया मात भवानी की,
मैने रातो रात सजाई
मैने रातो रात सजाई
मैने प्रेम से उसे बनाई

बड़े प्यार से मां को पहनाई
मां भी हल्का सा मुसकाई
मां की कृपा हुई निराली

चुनरिया मात भवानी की,
मैने रातो रात सजाई
मैने रातो रात सजाई
मैने प्रेम से उसे बनाई

नीलम अग्रवाल

download bhajan lyrics (154 downloads)