मंदिर खोलो बाबा थारो म्हे दिदार करस्या

दोहा... बाटड़ल्या थारी जोवती म्हारी आंखड़ल्या दिन रात
         भक्ता उडिक साँवरा तो कोई करल्या मनड़ारी बात

मंदिर खोलो बाबा मंदिर खोलो बाबा
थारो म्हे दिदार करस्या मंदिर खोलो बाबा
थार मंदिरय म बाता थास्यु चार करस्या
मंदिर खोलो बाबा..........

बाबा थारी ओळ्यु घणी आव..
पागल मन न कुण समझाव...
दरश करया बिन निंद न आव..
आंखड़ल्या म्हारी भर भर आव
खाटूधाम म, खाटूधाम म बुलाल थाकी सेवा करस्या
खाटूधाम... थार मंदिरय म बाता थास्यु चार करस्या
मंदिर खोलो बाबा..........

इण संकट स्यू सब न बचाओ
भक्ता रा थे कष्ट मिटाओ
रजनी थारी प्रेम पुजारन
सेवा म थारी हर पल हाजिर बाबा चाकरी
बाबा चाकरी... लगाले थार दासी बंणस्या
बाबा चाकरी.थार मंदिरय म बाता थास्यु चार करस्या.....
थार मंदिरय म बाता थास्यु चार करस्या
मंदिर खोलो बाबा........
                                       
सिंगर... संतोष शर्मा गौहाटी
लिरिक्स... रजनी गुप्ता कोलकत्ता
विशेष सहयोग... नवरत्न पारीक 9887140192



download bhajan lyrics (358 downloads)