मन में मनन कर शरधा सबुरी

साईं शरण बिन जिन्दगी अधूरी
मन में मनन कर शरधा सबुरी
साईं शरण बिन जिन्दगी अधूरी

चाहे गम कितना भी भारी,
साईं के दर आ इक बारी
कट जायेगे संकट सारे मिट जायेगी विपदा सारी,
सारी चिंता दूर करे वो दूर करे मज़बूरी
मन में मनन कर शरधा सबुरी

साईं की हर बात है सांझी सांचा है हर इक कथन,
सब का मालिक इक है सांचा सांचे सांचे ग्यारा वचन,
चड़े समाधि की सीडी पर आशा हो पूरी
मन में मनन कर शरधा सबुरी

श्रधा सबुरी है गीता श्रधा सबुरी रामयाण,
श्रधा सबुरी राम और श्याम भोले नाथ और नारायण
साईं के नजदीक करे वो मिट जाए सब दुरी
मन में मनन कर शरधा सबुरी
श्रेणी
download bhajan lyrics (306 downloads)