जग में निराली प्रभु शान आप की

जग में निराली प्रभु शान आप की
सब को नही है प्रभु पहचान आप की
जग में निराली प्रभु शान आप की

कैसे रहू बिना तेरे दिल भी नही लगता,
हर वक़्त हर घडी तेरी याद है करता,
जीना नही है तुम बिन मेरा सब छीन गया है तुम भी मेरा
जग में निराली प्रभु शान आप की

तेरे बिना जिन्दगी ये मेरी अधूरी है,
होगी ये पूरी जब तेरी मंजूरी है,
क्या चाहता हु केह न सकू गा,
दुरी तुम्हारी मैं सेह न सकू गा,
जग में निराली प्रभु शान आप की

दुनिया से अब मुझे कुछ नही लेना देना,
दोलत मेरी है तेरा मुस्कुरा देना,
नीरज तुम्हारा प्रभु दास है
हम राही की बस तू ही आस है,
जग में निराली प्रभु शान आप की
download bhajan lyrics (109 downloads)