आओ सखियों मिल गाओ वधाई

आओ सखियों मिल गाओ वधाई राम की बारात झनक पुर में आई
देखो दूल्हा बने है राम रघुराई
आओ सखियों मिल गाओ वधाई राम की बारात झनक पुर में आई

राजा दशरथ सज गए और सज गई सारी बारात
आये देवी देवता गुरु वशिष्ट के साथ  
आओ सखियों मिल गाओ वधाई राम की बारात झनक पुर में आई

एसी जोगी और न जग में जैसे सीता राम की,
मंगल गान हो रहे चहू दिशी जय हो सीता राम की
दोनों कुलो ने देखो रीत निभाई
आओ सखियों मिल गाओ वधाई

माँ सीता संग बनी है दुल्हन तीनो बेहने आज,
राम लखन और भरत शत्रु घन देखो बैठे मंडप साथ
सातो वचन लिए रस्मे निभाये
आओ सखियों मिल गाओ वधाई ..
श्रेणी
download bhajan lyrics (274 downloads)