बाबा तुझे कोई कहे डमरुधारी

बाबा तुझे कोई कहे डमरुधारी,
कोई त्रिपुरारी ऐ बाबा,
कोई तुमसा न कोई दानी,
नहीं दूजा कोई तुमसे सानी बाबा…….

ये जग कैलाश पे कर के बसेरा,
रामयी दियो धुनि ऐ बाबा………….

जब तूने पिया विष का प्याला,
तेरा रूप हुआ था निराला हे औघड़………

देव सब बन गए तेरे ही पुजारी,
डमरू धरी ऐ बाबा………….

तेरे दर पे जो भी है आता,
मन वांछित फल है वो पता हे शम्भू,
तुम्ही जग में हो त्रिनेत्र धारी,
शंकर ऐ दानी हे बाबा…………
श्रेणी
download bhajan lyrics (96 downloads)