मैया तोरी मढ़िया में बड़ी भीड़ है हो माँ

मैया तोरी मढ़िया में बड़ी भीड़ है हो माँ

आन विराजो मढ़िया में,माँ सिंघ सवार,
ध्वजा नारियल चढ़ रहे,फूलन के हार।
तोरी मढ़िया में......

पण्डा होम लगाबे रे,ले ले तेरौ नाम
जोत जागे द्वारे पे, पावन तेरो धाम।
तोरी मढ़िया में......

निर्धन को धन देती माँ,बाँझन को लाल,
बिगड़ी बनाती सबकी,कर देत निहाल।
तोरी मढ़िया में......

मैं बैचेन पड़ा द्वारे,कर दो कल्याण,
हाथ दया का रख दो, निज बालक जान
तोरी मढ़िया में......

स्वर:- सोहित गर्ग जी
पोस्ट:- दिनेश यादव
Mo. 7771089263
download bhajan lyrics (85 downloads)