माँ पूत नु भी नाल रख लै

काहनू रेहनी आ गुफा दे विच कली माँ पूत नु भी नाल रख लै
इक दुजे नु हो जावे गी तसली
माँ पूत नु भी नाल रख लै

तेरा हर हुकम मैं सिर मथे धरे गा दिन राती चोंकी धारी गुफा दी मैं करगा
बैठा रवागा द्वारा तेरा मली माँ पूत नु भी नाल रख लै

बैठ के इकठे असी सुख दुःख फोला गे
दिल दिया गुंजला नु रल मिल खोला गे
मेतो जांदी नि जुदाई तेरी चली
माँ पूत नु भी नाल रख लै

जीवे भी रखे गी उस हाल रही जावा गा
शिकवा गिला न कोई बुला ते लै आवा गा
गल माडी लगे या लगे पली
माँ पूत नु भी नाल रख लै

लिख दिति मैं ता तेरे चरना च अर्जी
मन या न मन भावे एह है तेरी अर्जी
निगहा दास ते मार दे सवाली
माँ पूत नु भी नाल रख लै

download bhajan lyrics (81 downloads)