गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया

गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया
बैल ते चड के आया अडिये वखरा रूप बनाया

गले च पाए सप संताली सारी उसने जटा खिलारी
तन ते भस्म रमा के उस ने मथे चन सजाया
गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया

डमरू ते तिरशूल है फड़ेया नैना विच रंग वखरा चड़ेया
चडी खुमारी लगदी जो मस्ती में डेरा लाया
गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया

रानी तू परीआ तो सोहनी तेरी सूरत है मन मोहनी
शिव नाल तेरा रिश्ता जुड़ेया सहनु समज न आया
गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया

राजू भी हरिपुरियां गाउनदा रवन भी व्याह दी गल सुनाउन्दा
सची शिव दी लीला न्यारी कोई भी न जान पाया
गोरा नि तेरा शंकर अडिये बैल ते चड के आया
श्रेणी
download bhajan lyrics (44 downloads)