अज्ज तेरी कल मेरी वारी आएगी

अज्ज तेरी, कल मेरी, वारी आएगी l
हे माँ झण्डेवाली, सब पे कर्म कमाएगी ll
*अंधेर नहीं होगा, देर लग जाएगी l
माँ झण्डेवाली, सब पे कर्म कमाएगी l
अज्ज तेरी, कल मेरी, वारी आएगी xll
हिम्मत रख, भरोसा रख xll
क्यों है दुखों से चूर, वारी आएगी जरूर l

लाखों करोड़ों हैं दर से, मांगने वाले l
तूँ भी आ के अपनी, झोली फैला ले ll
*मेहरांवाली अम्बे, माँ मेहर करेगी l
संकट सबके टालेगी, ना देर करेगी l
कर देगी, वर दाती, *खुशिओं से भरपूर,
वारी आएगी जरूर xll
हिम्मत रख, भरोसा रख xll


उसके दर पे होती, सबकी सुनवाई l
कभी किसी की अर्ज़ी, माँ ने ना ठुकराई l
*उसके आगे, समय का चलता, फेर नहीं है l
देर भले हो जाए, पर अंधेर नहीं है l
सुनने को, तेरी बिनती, *हो जाएगी मज़बूर,
वारी आएगी जरूर xll
हिम्मत रख, भरोसा रख xll


जग में तुमसे ज्यादा, कोई सुखी नहीं है l
कौन है चंचल जग में, जो दुःखी नहीं है l
*दुःख सुख के तो, चारों ओर लगे हैं मेले l
इस के, चक्र में तो, हम ही नहीं अकेले l
धुप और छाँव, रहेंगे सदा, *यह जग का दस्तूर,
वारी आएगी जरूर xll
हिम्मत रख, भरोसा रख xll
क्यों है दुखों से चूर, वारी आएगी जरूर l

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (187 downloads)