भगवन आस लगाए कब से

भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है,
फसी है बीच भवर नईया,
भगवन तुमको पुकारे है।।

दर दर ठोकर मैंने खाई,
दर दर जाकर ज्योत जलाई,
अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है,
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है।।

मैं पापी मुझे देदो सहारा,
दूर बसनो से देदो किनारा,
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है,
अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है,
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है।।
श्रेणी
download bhajan lyrics (169 downloads)