खोल किरपा दे बूहे

खाली मोड़ी ना खोल किरपा दे बूहे,
संगता आइया ने दर ते खोल किरपा दे बूहे,
खाली मोड़ी ना खोल किरपा दे बूहे॥

एक एक कदम बढ़ाओ भगतो बड़े मंदिर है जाना,
बड़े मंदिर है जाके भगतो अपना शीश झुकाना,
चरणा दे विच शीश झुका के,
दर्शन सोणा पाना,
खाली मोड़ी ना खोल किरपा दे बूहे.......

सिद्धक वाले दी झोली भरदी गुरु जी भर भर लुटांदे ने,
जो शक है करदा गुरु ते ओह खाली रह जांदे ने,
खाली मोड़ी ना खोल किरपा दे बूहे.......

इक इक कदम बढ़ाओ भगतो सतगुरु दर्शन पाना,
सतगुरु दर्शन पाना और दिल में प्रभु को बसाना,
जो जो प्रेमी आया दर ते खोल कृपा दे बूहे,
खाली मोड़ी ना खोल किरपा दे बूहे.......
download bhajan lyrics (161 downloads)