हनुमत जैसा रूप तुम्हारा

तर्ज - रब जैसा रूप तुम्हारा

हनुमत जैसा रुप तुम्हारा, कोठारी कुल उजियारा
हो माँ छगनी का प्यारा, भक्तो का पालनहारा,
बाबोसा नाम तुम्हारा, प्राणों से भी प्यारा
हनुमत जैसा रुप तुम्हारा......
             
शीश मुकुट है कानो में कुंडल, हाथ में घोटा सोहे,
तन केसरिया बागा पहने, रूप ये मन को मोहे,
जैसे सूरज जैसे चंदा, वैसे चमके बाबा हमारा,
हनुमत जैसा रुप तुम्हारा......
           
फूलों की खुशबू में तुम हो, कलियों में तुमसे रंग है,
रोशन है दुनिया ये तुमसे, रहते हो भक्तो के संग है,
तूही सहारा नाथ हमारा, दिलबर तुझपे जीवन वारा
हनुमत जैसा रुप तुम्हारा......
                 
                 
download bhajan lyrics (105 downloads)