इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां

इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां,
ना दर दर मै रूलदी जे तू कोल बिठा लेंदां॥

कर्मा दी गल सारी कोई दोष नहीं तेरा,
जीनू अपना बनाया सी ओ बनया नहीं मेरा,
जे मैं पाप ही कीते सी तूं परदे पा देंदा,
इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां.....

मेरे लेख लिखन वेले कोई सोच ना किता ऐ,
हून मैं नहीं सह सकदी जो मेरे नाल बिता ए,
जे मैं ही भूल गई सी तां तू याद करा देंदां,
इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां.....

मुश्किलां आंदीयां ने सारे ही छड्ड जान्दे ने,
पालन वाले भी ना हाय कोल बिठान्दे ने,
जे मैं हीं रूस गई सी तूं आप मना लेंदां,
इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां.....

अखां विच हंजू ने बूलां ते नाम तेरा,
मेरी नैया डोल रही आके पार लगा देंदां,
इक बार जे तू श्यामा मैनु अपना बणा लेंदां.....
श्रेणी
download bhajan lyrics (125 downloads)