तेरी रहमतों का दरिया सरेआम चल रहा है - गुरुदेव भजन

( जब तक थी, तुमसे दूरी, कीमत न कुछ मेरी थी* l
कीमत न, कुछ मेरी थी*, कीमत न कुछ मेरी थी l )

हुई तुमसे, जो मोहब्बत ll, मेरा नाम बन रहा है,
तेरी रहमतों, का दरिया, सरेआम चल रहा है l
मुझे भीख, मिल रही है*, तेरा काम चल रहा है,,,
तेरी रहमतों, का दरिया, सरेआम चल रहा है ll

मैंने जब भी, यहॉं पुकारा, तूने दे दिया सहारा* l
तूने दे दिया, सहारा*, तूने दे दिया सहारा l
तेरे नाम, के सहारे ll, मेरा काम चल रहा है,,,
तेरी रहमतों का दरिया,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

मुझे मद की, नहीं जरूरत, तेरे नाम का नशा है* l
तेरे नाम, का नशा है*, तेरे नाम का नशा है l
तेरे नाम, की मदिरा ll, हर याम बन रहा है,,,
तेरी रहमतों का दरिया,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

मुझे इश्क़ है, तुम्हीं से, मैं दीवाना बन गया हूँ * l
मैं दीवाना, बन गया हूँ*, मैं दीवाना बन गया हूँ l
मेरे दिल की, धड़कनों में ll, तेरा नाम चल रहा है,,,
तेरी रहमतों का दरिया,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (108 downloads)