मेरे श्याम दा द्वारा सारे जग तो न्यारा

मेरे श्याम दा द्वारा सारे जग तो न्यारा,
नि मैं औना जाना भूल गई आ,
श्याम तेरे तो वगैर मैं रुल गई आ.....

हाथ मेरे दे विच गंगा जल गड़वा,
नी मैं चरण धुआउना भूल गई आ,
श्याम तेरे तो वगैर मैं रुल गई आ,
मेरे श्याम दा द्वारा......

हाथ मेरे दे विच केसर कटोरी,
नी मैं तिलक लगाऊंना भूल गई आ,
श्याम तेरे तो वगैर मैं रुल गई आ,
मेरे श्याम दा द्वारा.....

हाथ मेरे दे विच फुला वाली माला,
नी मैं हार पुआना भूल गई आ,
श्याम तेरे तो वगैर मैं रुल गई आ,
मेरे श्याम दा द्वारा.....

हाथ मेरे दे विच माखन मिश्री,
नी मैं भोग लुआना भूल गई आ,
श्याम तेरे तो वगैर मैं रुल गई आ,
मेरे श्याम दा द्वारा.....
श्रेणी
download bhajan lyrics (45 downloads)